बॉर्डर पर जवानों संग दिवाली… केदारनाथ जाकर जलाभिषेक, कर दिल्ली लौटे पीएम मोदी

By Author19 Oct -
13

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तराखंड में भारत-चीन सीमा के नजदीक हर्षिल में 11 हजार फुट की ऊंचाई पर मौजूद सेना के बेस पर सेना प्रमुख और आईटीबीपी के डीजी से मुलाकात करने के बाद जवानों संग दिवाली मनाई। रेजिमेंट के जवानों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दीवाली के मौके पर पहले उनको मिठाई खिलाई और उसके बाद उनके साथ फोटो खिंचाई।

हर्षिल में पीएम ने सेना प्रमुख से मुलाकात की। यहां उन्होंने आईटीबीपी के जवानों के साथ दिवाली मनाई। जवानों संग दिवाली मनाने के बाद पीएम मोदी सुबह ही केदारनाथ पहुंच गए, जहां उन्होंने शिव का जलाभिषेक किया। बाबा केदारनाथ में जलाभिषेक करने के बाद प्रधानमंत्री वहीं दिवाली भी मनाएंगे। देहरादून निकलने से पहले उन्होंने ट्वीट कर लोगों को दिवाली की बधाई दी। पीएम ने ट्वीट में लिखा, ‘दिवाली लोगों की जिंदगी में खुशहाली और समृद्धि लाए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दीपावली के दिन आज केदारनाथ धाम पहुंचे। बता दें कि प्रधानमंत्री बनने के बाद वह तीसरी बार बाबा केदार के दर्शन करने के लिए आए हैं। इससे पहले उन्होंने उत्तराखंड के हर्षिल में भारतीय सशस्त्र बलों के जवानों के साथ दिवाली मनाई।

 

हेलीपैड से उतरने के बाद करीब आधे किलोमीटर का रास्ता पीएम मोदी ने पैदल तय किया और बाबा केदारनाथ के मंदिर पहुंचे और पूजा-अर्चना की। इस बार उन्होंने जलाभिषेक किया। जबकि पिछले दो बार से वो रुद्राभिषेक कर रहे थे। मंदिर से बाहर आकर उन्होंने नंदी को प्रणाम किया और मंदिर की परिक्रमा भी की। प्रधानमंत्री बनने के बाद मोदी तीसरी बार केदारघाटी पहुंचे थे।

निर्माण कार्यों का जायजा लेने के बाद प्रधानमंत्री मोदी दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इससे पहले प्रधानमंत्री ने उत्तराखंड आपदा की एक फोटो प्रदर्शनी भी देखी। जून 2013 में उत्तराखंड में जो प्रलय आई थी, पूरी केदार घाटी तबाह हो गई थी।

प्रदर्शनी में उसकी तस्वीरें दिखाई गईं। तबाही के बाद जो निर्माण कार्य कराया गया, खुद प्रधानमंत्री ने उसका जायजा लिया। प्रधानमंत्री के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल भी मौजूद रहे।

प्रधानमंत्री ने आम लोगों से भी मुलाकात की, कई लोगों को सेल्फी लेते देखा गया। मंदाकिनी नदी से सीधे एक नया रास्ता केदारनाथ मंदिर तक बनाया गया है। प्रधानमंत्री ने इसका जायजा लिया। इस रास्ते से श्रद्धालु सीधा मंदिर तक आ सकते हैं। बता दें कि मंदिर की सजावट में 3 टन फूल लगाए गए हैं।

कैबिनेट मंत्री प्रकाश पंत, धन सिंह रावत, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट और आचार्य बालकिशन ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया।

Facebook Comments
Previous articleSardar Patel Statue – One of the best statues of world
Next articleDeepotsav: UP CM Yogi Adityanath renames Faizabad district as Ayodhya